main news

सोसाइटी में जनरेटर बंदी के आदेश के खिलाफ नेफोमा ने किया प्रदर्शन कहा पहले विकल्प दे सरकार

ग्रेटर नोएडा वेस्ट दिल्ली एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण की रोकथाम के लिए ग्रह लागू किया गया है जिसके तहत मल्टीस्टोरी सोसायटीओं में जनरेटर ना चलाने का आदेश है ग्रेटर नोएडा वेस्ट में लगभग 100 से ज्यादा सोसाइटी अभी हैं जिसमें लाखों निवासी निवास करते हैं एनजीटी के आदेश के बाद उन सोसाइटी में रह रहे निवासियों को अच्छी खासी दिक्कत होना लाजमी है

आज फ्लैट ओनर्स की संस्था नेफोमा ने ग्रेप के नियमों में बदलाव की मांग के लिए प्रदर्शन किया जिसमें पाल्म ओलंपिया, एग्जॉटिका वेदांतम सोसायटी के प्रतिनिधियों ने भाग लिया

This image has an empty alt attribute; its file name is 4d7762f6-ebe5-4c00-bd75-b8fbf63f2d8f-1024x258.jpg

नेफोमा अध्यक्ष अन्नू खान ने बताया कि राष्ट्रीय हरित अधिकरण एनजीटी और सरकार को करोडों सोसाइटी निवासियों के बारे में सोचना चाहिए इस समय कोरोना कोविड-19 चल रहा है सोसाइटी में रहने वाले अधिकतर निवासियों का वर्क टू होम चल रहा है, बच्चे ऑनलाइन क्लास ले रहे हैं दिन में पावर कट कई बार होता है अगर सोसाइटी में जनरेटर से पावर बैकअप नहीं मिलेगा तो आम जनजीवन अस्त व्यस्त हो जाएगा, सरकार को पहले विकल्प तलाशना चाहिए था

पाल्म ओलंपिया एओए अध्यक्ष रवि तिवारी ने बताया कि सरकार ने जल्दबाजी में फैसला लिया है जिसका परिणाम सोसाइटी ने वासियों को भुगतना पड़ेगा, बच्चों, सीनियर सिटीजन और घर का खर्च चलाने वाले सभी पर इस आदेश का प्रभाव पड़ेगा

एग्जॉटिका सोसायटी के महासचिव गणेश सिंह ने बताया कि ज्यादातर प्रदूषण पराली जलाने से और बड़ी-बड़ी फैक्ट्रियां जो प्रदूषण फैलाती हैं उनसे हो रहा है अगर सरकार उन पर नियंत्रण करें तो दिल्ली एनसीआर में कभी प्रदूषण ना हो क्योंकि हर बार इन्हीं महीनों में प्रदूषण का ग्राफ बढ़ जाता है

प्रदर्शन में वेदांतम सोसाइटी से कन्हैया वर्मा, सुमन वर्मा, मनीष, एग्जॉटिका सोसाइटी से गणेश सिंह, राकेश झा, पाल्म ओलंपिया सोसाइटी से रवि तिवारी आदि सदस्यों ने भाग लिया ।

About the author

NCRKhabar Mobile Desk

.. become a NCRKhabar Patron!

Dear Reader,

When you choose to pay Rs 2,999 to be a patron or Rs 999 to be a subscriber you're helping us build a new media organisation. You're backing a media platform that will bring you ground reports that other platforms will try every bit to avoid.

You're supporting the growth and expansion of a media platform that will act to fact check and counter malicious fake news being spread about India. You'll be contributing to a platform that is obsessed with issues affecting India's future.

Partner with us, be a patron or a subscriber. Your backing is important to us.
just pay using Paytm/GooglePay/PhonePay @ 9654531723