Uncategorized

एंटनी ने कहा, सरकार नियमों को और कड़ा करेगी

नियमों को और कड़ा करेगी सरकार- एंटनीरक्षा मंत्री एके एंटनी ने कहा कि सरकार वीवीआईपी हेलीकॉप्टर सौदे जैसे विवादों से बचने के लिए नियम और सख्त करेगी तथा आयात पर निर्भरता कम करेगी.

एंटनी ने कहा कि हेलीकॉप्टर सौदे में सामने आये घोटाले जैसे मामलों से बचने के लिए सैन्य उपकरणों का स्वदेशीकरण ही अंतिम उपाय है. उन्होंने सशस्त्र बलों से कहा कि संचालन संबंधी जरूरतों को पूरा करने के लिए आयात पर निर्भर रहने की सोच को बदला जाए.

एंटनी ने सेना की एक सेमिनार में अपने लिखित भाषण से हटकर संबोधन देते हुए कहा कि हर स्तर पर पारदर्शिता, ईमानदारी और गंभीरता बनाये रखने की जरूरत से समझौता नहीं किया जा सकता. इतनी सारी सावधानी बरतने के बावजूद बार-बार इधर- उधर चीजें सामने आ रहीं हैं. मुझे नहीं पता कि क्या किया जाए.

उन्होंने कहा कि आयुध कारखाना बोर्ड घोटाले में सरकार ने छह रक्षा कंपनियों को काली सूची तक में डाल दिया और शस्त्र विक्रेता अभिषेक वर्मा के भ्रष्टाचार में शामिल रहने के आरोपों के बाद उसे जेल में डाल दिया गया.

रक्षा मंत्री ने कहा कि इन सबके बावजूद कुछ लोग सबक नहीं सीख रहे हैं. इसलिए हमें अपनी प्रणालियों को और कड़ा करना होगा. जब भी आरोप लगाये जाते हैं तो हमें जड़ों तक पहुंचकर सच का पता लगाना होगा और दोषियों को दंडित करना होगा. हम लालची लोगों के लिए भारतीय करदाताओं का एक भी पैसा बर्बाद नहीं होने दे सकते.

स्वदेशीकरण के लिए सरकार से और अधिक समर्थन की सीआईआई की रक्षा समिति के अध्यक्ष अतुल पुंज की मांग पर टिप्पणी करते हुए मंत्री ने कहा कि मैं उनसे पूरी तरह सहमत हूं.

उन्होंने कहा कि विशेष रूप से हाल ही में सामने आये विवाद के बाद जब हम और आगे बढ़ते हैं तो अंतिम उपाय अधिकतम स्वदेशीकरण ही है. आयात पर ज्यादा निर्भर रहने से समाधान नहीं निकलेगा.

उन्होंने कहा कि सरकार मिशन मोड में स्वदेशीकरण के काम को गति प्रदान करने के लिए रक्षा उत्पादन और खरीद प्रक्रिया पर अपनी नीतियों की समीक्षा करेगी.

रक्षा मंत्री ने कहा कि अस्थिर सुरक्षा परिदृश्य और देश के इर्दगिर्द खतरों के मद्देनजर सशस्त्र बलों को अति आधुनिक उपकरणों की जरूरत है क्योंकि हम जोखिम नहीं उठा सकते.

अगस्ता वेस्टलैंड सौदे का जिक्र करते हुए मंत्री ने कहा कि देखिए कई बार क्या होता है गड़बड़ियों के कारण हमें अंतिम समय में प्रक्रिया को बदलना होता है.


स्वदेशीकरण को तरजीह

हेलीकॉप्टर सौदे को निरस्त करने की प्रक्रिया शुरू हो गयी है. तीन साल पहले सौदा हुआ था और 12 में से तीन हेलीकॉप्टरों की आपूर्ति हो चुकी है.

एंटनी ने कहा कि सशस्त्र बलों को सुनिश्चित करना चाहिए कि आयात का विकल्प अंतिम होना चाहिए ना कि सबसे पहले. स्वदेशीकरण को तरजीह देनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि इस तरह की सोच है कि जब आप विदेश जाते हो तो कई अति आधुनिक उपकरण देखते हो और हम तत्काल उन्हें आयात के माध्यम से पाने का प्रयास करते हैं. हमें अपनी प्राथमिकता पर फिर से नजर डालनी चाहिए.

एंटनी ने कहा कि सशस्त्र बलों को उपकरणों को खरीदने के लिए आयात के विकल्प से पहले निजी और सरकारी क्षेत्र की कंपनियों तथा डीआरडीओ अधिकारियों समेत भारतीय सोतों से उत्पाद प्राप्त करने के प्रयास करने चाहिए.

उन्होंने कहा कि अगर वे हमें विश्वास दिला सकते हैं कि भारत में निश्चित समय के अंदर वैसे ही उपकरण दे सकते हैं तो हमें इस दिशा में जाना चाहिए. भारत में बने उत्पादों से हमें गौरवान्वित महसूस करना चाहिए. यदि हमें लगता है कि नियत समयावधि में चीज मिलना कठिन है तभी आयात करना चाहिए.

एन सी आर खबर ब्यूरो

हम आपके भरोसे ही स्वतंत्र ओर निर्भीक ओर दबाबमुक्त पत्रकारिता करते है I इसको जारी रखने के लिए हमे आपका सहयोग ज़रूरी है I अपना सूक्ष्म सहयोग आप हमे 9654531723 पर PayTM/ GogglePay /PhonePe या फिर UPI : 9654531723@paytm के जरिये दे सकते है एनसीआर खबर.कॉम दिल्ली एनसीआर का प्रतिष्ठित और नं.1 हिंदी समाचार वेब साइट है। एनसीआर खबर.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय,सुझाव और ख़बरें हमें mynews.ncrkhabar@gmail.com पर भेज सकते हैं या 09654531723 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button