main newsराजनीति

राजनाथ ने दिए स्पष्ट संकेत, मोदी होंगे पीएम कैंडिडेट

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने एक प्रकार से स्पष्ट संकेत देते हुए कहा कि यदि 2014 के आम चुनाव के बाद बीजेपी सत्ता में आती है तो नरेंद्र मोदी ही पीएम पद के उम्मीदवार होंगे। राजनाथ सिंह ने कहा कि मोदी उत्तर से लेकर दक्षिण तक और पूर्व से लेकर पश्चिम तक लोकप्रिय हैं। इस वक्त राष्ट्रीय दमखम वाले वही एकमात्र नेता हैं। उनकी लोकप्रियता चुनाव में पार्टी की मदद करेगी। अमेरिका में पत्रकारों से बातचीत करते हुए राजनाथ ने खुद को पीएम पद की दौड़ से बाहर बताया। उन्होंने कहा कि मेरा काम सिर्फ 2014 में पार्टी को जीत दिलाना है।

राजनाथ सिंह ने यह भी दावा किया कि चुनाव के नजदीक आने और चुनाव के बाद भी और अधिक सहयोगी पार्टी के साथ जुड़ेंगे। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी के चुनाव प्रचार अभियान में राम जन्मभूमि विवाद के बजाय विकासात्मक मुद्दे अधिक महत्वपूर्ण होंगे।

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि यह जरूरी नहीं है कि पार्टी अध्यक्ष में भीड़ जुटाने की भी क्षमता हो और वही प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार भी हो। पार्टी का काम करने के लिए मेरे पास जिम्मेदारी है। मुझे काम करना है और वह काम है 2014 के चुनाव में पार्टी की जीत।

न्यू यॉर्क और वॉशिंगटन की अपनी 5 दिवसीय यात्रा की शुरुआत करते हुए राजनाथ ने एक पत्रकार सम्मेलन में कहा कि चुनाव से महीनों पहले मैंने गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को पार्टी की चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया। इसमें अनोखी बात क्या है? हमने मोदी को वैसे ही नियुक्त किया है जैसे और पार्टियां करती हैं। इसके मायने क्यों निकाले जा रहे हैं? मैंने उनकी छवि, लोकप्रियता और पार्टी के प्रति प्रतिबद्धता को ध्यान में रखते हुए प्रचार प्रमुख बनाया है।

यह पूछे जाने पर कि ये सभी संकेत क्या मोदी के प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार होने का इशारा करते हैं, राजनाथ सिंह ने कहा, इसमें कहीं 2 मत नहीं है कि इस वक्त मोदी भारत के सर्वाधिक लोकप्रिय और कद्दावर नेता हैं। राजनाथ सिंह ने कहा कि वह न सिर्फ गुजरात में लोकप्रिय हैं बल्कि तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश और बिहार में भी उनकी लोकप्रियता है। उत्तर से लेकर दक्षिण तक, पूर्व से पश्चिम तक। राष्ट्रीय दमखम वाले वही एकमात्र नेता हैं। उनकी लोकप्रियता चुनाव में पार्टी की मदद करेगी।

पार्टी अध्यक्ष को लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में पेश नहीं किए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हमेशा ऐसा नहीं होता। उन्होंने कहा कि मेरी रुचि खुद के पार्टी अध्यक्ष रहने के दौरान बीजेपी को केंद्र की सत्ता में वापस लाने और करप्शन में डूबे कांग्रेस के कुशासन का बोरिया बिस्तर समेटने की है।

चुनावी वायदों के सवाल पर उन्होंने कहा कि बीजेपी राम जन्मभूमि मुद्दे के बजाय विकासात्मक बहस को बढ़ाएगी। उन्होंने साथ ही कहा कि राम मंदिर कभी भी बड़ा चुनावी मुद्दा नहीं रहा। यह एक राष्ट्रीय मुद्दा है, चुनावी मुद्दा नहीं।

राजनाथ पार्टी महासचिव अनंत कुमार और पार्टी नेताओं विजय जौली और सुधांशु त्रिवेदी के साथ अमेरिका गए हैं। वह मंगलवार को वॉशिंगटन में एक सम्मेलन में भारत, अफगानिस्तान और क्षेत्रीय सुरक्षा पर अपना महत्वपूर्ण भाषण देंगे।

उन्होंने कहा कि एनडीए सरकार और यूपीए सरकार के कार्यकाल की तुलना करके भारत की जनता को यह अहसास हो चुका है कि बीजेपी एकमात्र समाधान है। राजनाथ सिंह ने कहा कि गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ जैसे बीजेपी शासित कई राज्यों का कार्य प्रदर्शन जनता देख रही है कि यदि ये राज्य कई कांग्रेस शासित राज्य सरकारों के खराब प्रदर्शन और उद्योगों की खराब हालत के मुकाबले, 24 घंटे बिजली और स्वच्छ तथा प्रभावी प्रशासन उपलब्ध करा सकते हैं तो लोग किसको तरजीह देंगे। लोग अपना मन बना चुके हैं।

2014 में राष्ट्रीय चुनाव का सामना करने के लिए बीजेपी द्वारा उठाए गए कदमों का ब्यौरा देते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी ने प्रत्येक बूथ पर चुनाव बूथ समितियों का गठन कर संगठनात्मक स्तर पर बदलाव किए हैं।

उन्होंने कहा कि भारतीय मतदाताओं को अब यह अहसास हो गया है कि केंद्र 5 फीसदी विकास दर की गारंटी नहीं दे सकता जबकि गुजरात, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में करीब 10 फीसदी विकास दर है। कोई भी अब अधिक समय तक भारतीय मतदाताओं को बेवकूफ नहीं बना सकता।

कर्नाटक में पार्टी की हालिया हार तथा कई अन्य राज्यों में लगे झटके के बारे में बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि विधानसभा चुनाव और निकाय चुनाव संसदीय चुनावों से अलग होते हैं जहां लोग स्थिर सरकार के लिए मतदान करते हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस जल्द ही सत्ता से बेदखल हो जाएगी।

राजनाथ सिंह ने कहा कि हमें विश्वास है कि कांग्रेस सरकार की विफलता से बीजेपी को केंद्र में सत्ता में लौटने में मदद मिलेगी। सत्ता में आने की इच्छुक किसी भी पार्टी को स्वच्छ प्रशासन देना चाहिए और लोगों की जरूरतों को पूरा करना चाहिए। यदि वे इसमें विफल हो जाते हैं तो वे सत्ता से बाहर हो जाएंगे।

NCR Khabar News Desk

एनसीआर खबर.कॉम दिल्ली एनसीआर का प्रतिष्ठित और नं.1 हिंदी समाचार वेब साइट है। एनसीआर खबर.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय,सुझाव और ख़बरें हमें mynews@ncrkhabar.com पर भेज सकते हैं या 09654531723 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं

Related Articles

Back to top button